Friday, November 19, 2010

बचाव

2 comments:

  1. इक काठ की हांडी में पहिये हैं ही कहां :)

    ReplyDelete